पुरानी डायरी


सालो बाद निकली स्टोर रूम सेधुल सनी पुरानी डायरीयादो की बारात निकालीधुल सनी पुरानी डायरीबचपन के दिन, दादाजी के साथ खेल के दिन,वो जिद के दिन, मासूमियत के दिन,शरारतो के दिन, माँ से डांट खाने के दिनयादो की बारात निकालीधुल सनी पुरानी डायरीतीन पहियों वाली साइकिल को खीचने के दिनअपने जन्मदिन के इंतज़ार के दिन,दोस्तों से चिढ़ने बिगाड़ने के दिनकभी अब्बा तो कभी कट्टी करने के दिनयादों को अब्बा कहतीयादो की बारात निकालीधुल सनी पुरानी डायरी
सालो बाद निकाली स्टोर रूम से
धुल सनी पुरानी डायरी
यादो की बारात निकाली
धुल सनी पुरानी डायरी
बचपन के दिन, दादाजी के साथ खेल के दिन,
वो जिद के दिन, मासूमियत के दिन,
शरारतो के दिन, माँ से डांट खाने के दिन
यादो की बारात निकाली
धुल सनी पुरानी डायरी
तीन पहियों वाली साइकिल को खीचने के दिन
अपने जन्मदिन के इंतज़ार के दिन,
दोस्तों से चिढ़ने बिगाड़ने के दिन
कभी अब्बा तो कभी कट्टी करने के दिन
यादों को अब्बा कहती
यादो की बारात निकाली
धुल सनी पुरानी डायरी

सालो बाद निकाली स्टोर रूम से

धुल सनी पुरानी डायरी

यादो की बारात निकाली

धुल सनी पुरानी डायरी

बचपन के दिन, दादाजी के साथ खेल के दिन,

वो जिद के दिन, मासूमियत के दिन,

शरारतो के दिन, माँ से डांट खाने के दिन

यादो की बारात निकाली

धुल सनी पुरानी डायरी

तीन पहियों वाली साइकिल को खीचने के दिन

अपने जन्मदिन के इंतज़ार के दिन,

दोस्तों से चिढ़ने बिगाड़ने के दिन

कभी अब्बा तो कभी कट्टी करने के दिन

यादों को अब्बा कहती

यादो की बारात निकाली

धुल सनी पुरानी डायरी

Wrote this poem in 1999, I found my old diary today sharing one of the poems with you :)

Wrote this poem in 1999. I found my old diary today; sharing one of the poems with you :)

About these ads

14 thoughts on “पुरानी डायरी

  1. last time when I went home for EID i found my old diary too read it had good laugh and tears … diary was one which i used to maintain very well .. thanks to gadget and internet no time and life is so busy these days :)

    सालो बाद निकाली स्टोर रूम से
    धुल सनी पुरानी डायरी
    यादो की बारात निकाली
    धुल सनी पुरानी डायरी

    खुशी के आँसू धन्यवाद महक

    • Yeah I have saved a couple of my diaries but wish if I could find my oldest diary..it was pink in color and dad made it for me….when I was 5!

Liked or disliked what you read? Leave a comment.

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s